मेरा प्रीत मेरा मान मेरी जान है हिंदुस्तान – शायर हिमांशु सुथार

0
Hindustan
दिल मे जोश है अब हम रखते आँखों में तूफान
काँपते है ये शत्रु सारे,कांपता हर इंसान
वीरो ने जिसके खातिर है,त्यागे अपने प्राण
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
रग-रग में है इसकी खुशबू,सुन्दर यहाँ की मिट्टी
चारों और है फैली दुनिया,खूब यहाँ की सृष्टि
दुनिया भी है जिसकी कायल,करती है सम्मान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
महाराणा की है ये धरती,सुन लो ज़माने वालो
हाथ तुम्हारे कट जाएंगे,अंगुलियाँ उठाने वालों
परमात्मा का है जिस पर खूब,अमूल्य वो वरदान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
गर भारत में रहना है तुमको,जय तो बोलना होगा
कितने पाप किये है तुमने,राज़ तो खोलना होगा
जो ना बोले भारत की जय,कट जाए उसकी ज़ुबान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
हिन्दू मुस्लिम सिक्ख ईसाई, है सब यहाँ पर भाई
फिर क्यो मंदिर मस्जिद पर,होती है खूब लड़ाई
इन शैतानों के चक्कर में,कुछ शरीफ हुए कुर्बान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
आज़ादी के रंग से युही,देश ये रंगा रहेगा
जब तक चलती रहेगी हवाएँ, ऊँचा तिरंगा रहेगा
रंग में है इसके शांति गौरव,ये है दिलों की शान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
ईद हो या हो फिर दीवाली,मिलकर यहाँ सब मनाते
मीठे-मीठे रसगुल्लों से,प्यार की तलब जगाते
जो यहाँ आ जाता है एक बार,करता है गुणगान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
दुश्मन जो अब आँख उठाएगा,विश्व से हटा हम देंगे
अब जो रखे कदम यहाँ पर,धूल चटा हम देंगे
चीन भी धक्के खाता रहेगा,रोयेगा पाकिस्तान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
इश्क मोहब्बत प्यार यहाँ पर,युही ज़िंदा रहेगा
देख के सारा ज़माना हमको,होता शर्मिंदा रहेगा
नफ़रत ने जो दस्तक दी यहाँ,होगा इम्तिहान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान
 
है ये भारत सोने की चिड़िया,सोने का है हर द्वार
इसकी महिमा है निराली,है निराला प्यार
सारे जग में ऊँचा जिसका,नाम है सबसे महान
मेरी जान है हिंदुस्तान,मेरी जान है हिंदुस्तान

Comments

comments

LEAVE A REPLY